Live cricket scores, Cricket news and updates by Cricket Nirvana

हिन्दी इन्टर्व्यूज़


हलहदर दास, उड़िसा का ये विकेट-कीपर जो अपना आदर्श अपने बड़े भाई को मानता है...

Wednesday, May 28, 2022



"विकेट-किपर के लिये एकाग्रता बहुत ही महत्वपूर्ण होती है" -हलहदर दास


Sportz Interactive

उड़िसा के छोटे से शहर से अपना क्रिकेट शुरू करने वाला ये विकेट्-किपर बल्लेबाज़ हलहदर दास हमारी रिपोर्टर शिरीन सदिकोट से बात करते हुये...

हलहदर, आपने क्रिकेट कहाँ और कब से खेलना शुरू किया?
पहले गाँव मे खेला करता था, फिर पढ़ाई के लिये शहर आया और बस वहीँ से आज यहाँ तक पहुँच गया।

भारत मे किसी भी क्रिकेटर का सबसे पहला सपना होता है रणजी ट्रॉफ़ी खेलना, जब आपको पहली बार अपने राज्य के लिये रणजी मे खेलना का अवसर मिला तो आपको कैसा लग रहा था?
जी मैं बहुत ही ज़्यादा खुश था।

आपका आदर्श कौन है?
मैने अपना क्रिकेट करियर अपने भाई को देखते हुए शुरू किया, इसलिये मैं अपना आदर्श अपने भाई को ही मानता हूँ।

क्या आप पहले से ही विकेट्-किपिंग करते आ रहें हैं या फिर आपने अपने आपको बदला है?
जी नही, पहले मैं गेंदबाज़ी करता था। मेरा भाई किपिंग किया करता था उसि को डेख कर मैं भी विकेट-किपर बन गया।

अगर हम क्रिकेट मे विकेट्-किपर को देखें तो वह बहुत ही कम आराम कर पाता है क्योंकि उसके पास हर समय गेंद आती है तो आप कैसे ध्यान केन्द्रित करते हैं?
विकेट-किपर के लिये एकाग्रता बहुत ही ज़रूरी है, अगर आप एक कैच छोर देते हैं तो शायद मैच भी हाथ से निकल सकता है, क्योंकि वही बल्लेबाज़ शतक भी लगा सकता है। इसलिये एकाग्रता बहुत ही मयने रखती है।

आजकल प्रत्येक टीम ऐसा किपर चाहती है जो किपिंग के साथ-साथ एक अच्छा बल्लेबाज़ भी हो, आप किपिंग और बल्लेबाज़ी दोनो मे संतुलन कैसे बना पाते हैं?
मैं दोनो ही चीज़ के लिये एक बराबर समय देता हूँ। मैं चाहता हूँ कि जो भी करूँ उसमे सर्वश्रेष्ठ दे सकूँ।

अब भारत मे छोटे जगह से भी खिलाडी आ रहें हैं, और भारतीय कप्तान भी इनमे से एक हैं। आपका क्या कहना है इस बारे मे?
जी हाँ बहुत ही अच्छा लगता है, और प्रेरणा भी मिलती है, मैं बस यही कहना चाहूँगा आप अपना अच्छे से अच्छा प्रदर्शन करते रहें।

-जैसा शिरीन सदिकोट को कहा गया।


COMMENTS

FEATURES